Major News Online | Here you Read latest and Updates News of Market | Read Biography, Market Trends and Many More.

सरकार ने लू से बचाव के लिए जारी की एडवायजरी



लू की लपट से परेशान हैं आप? सरकार ने बचाव के लिए एडवायजरी जारी की है. देखें वीडियो.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आतंकवाद का आरोप और सिर्फ डेढ़ साल की जेल? सुप्रीम कोर्ट ने रद्द की PFI के 8 सदस्यों की जमानत – Supreme Court cancels bail granted to eight men PFI members says national security is paramount ntc


सुप्रीम कोर्ट से प्रतिबंधित संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के सदस्यों को बड़ा झटका लगा है. SC ने मद्रास हाईकोर्ट के फैसले को पलट दिया है और सभी 8 आरोपी सदस्यों की जमानत रद्द कर दी है. पीएफआई के इन 8 सदस्यों पर देशभर में आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने की साजिश रचने का आरोप है.

पिछले साल अक्टूबर में मद्रास हाईकोर्ट ने इन आरोपियों को बेल दे दी थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट में चैलेंज किया गया था. बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस बेला माधुर्य त्रिवेदी की बेंच ने सुनवाई की. SC ने कहा, अपराध की गंभीरता और अधिकतम सजा के तौर पर जेल में बिताए गए सिर्फ 1.5 साल को देखते हुए हम जमानत देने के मद्रास हाईकोर्ट के आदेश में हस्तक्षेप करने के इच्छुक हैं. अदालत व्यक्तिगत स्वतंत्रता देने वाले आदेशों में हस्तक्षेप कर सकती है, अगर वो गलत आधार पर दिए गए हों.

अधिकतम सजा दी गई और जेल में सिर्फ डेढ़ साल बिताए

जस्टिस त्रिवेदी ने अपने निर्णय में कहा, जांच एजेंसी द्वारा हमारे समक्ष प्रस्तुत सामग्री के आधार पर प्रथम दृष्टया मामला बनता है. PFI के इन सदस्यों पर देश के खिलाफ षड्यंत्र रचने और आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप हैं. जमानत पर इनकी रिहाई रद्द करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा, अपराध की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए अधिकतम सजा दी गई है. जबकि उन्होंने सिर्फ 1.5 डेढ़ साल कारावास में बिताए हैं. इस कारण हम हाईकोर्ट के जमानत पर रिहाई के फैसले में दखल दे रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: बॉम्बे हाइकोर्ट का बड़ा फैसला, PFI की प्रेस कांफ्रेंस में शामिल होने वाले शख्स को पासपोर्ट जारी करने के निर्देश

सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल में भी तेजी लाने के निर्देश दिए

कोर्ट ने इस तर्क को स्वीकार करने से इनकार कर दिया कि व्यक्तिगत स्वतंत्रता सर्वोच्च है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में ट्रायल में तेजी लाए जाने का भी निर्देश दिया है. इसके साथ ही ये कहा है कि इस जमानत का असर केस की मेरिट पर असर नहीं पड़ेगा. आठ आरोपियों में बरकतुल्ला, इदरीस, मोहम्मद अबुथाहिर, खालिद मोहम्मद, सैयद इशाक, खाजा मोहिदीन, यासर अराफात और फैयाज अहमद का नाम शामिल है. सभी को केरल, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश समेत देश के विभिन्न हिस्सों में आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए भारत और विदेशों में धन इकट्ठा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

मद्रास हाईकोर्ट ने दे दी थी जमानत

इससे पहले अक्टूबर 2023 में मद्रास हाईकोर्ट में जस्टिस एसएस सुंदर और जस्टिस एसएस सुंदर की डबल बेंच ने कहा था, अभियोजन इस अदालत के समक्ष अपीलकर्ताओं में से किसी एक की आतंकवादी कृत्य में शामिल होने या आतंकवादी गिरोह या संगठन के सदस्य या आतंकवाद में प्रशिक्षण के बारे में कोई भी सामग्री पेश करने में असमर्थ रहा है. जस्टिस सुंदर मोहन ने इन सभी को जमानत दे दी थी.

यह भी पढ़ें: बॉम्बे हाइकोर्ट का बड़ा फैसला, PFI की प्रेस कांफ्रेंस में शामिल होने वाले शख्स को पासपोर्ट जारी करने के निर्देश

हाई कोर्ट का कहना था कि पीएफआई को आतंकवादी संगठन नहीं, बल्कि एक गैरकानूनी संगठन घोषित किया गया है. अभियोजन इस अदालत के समक्ष अपीलकर्ताओं में से किसी एक की भी आतंकवादी कृत्य में शामिल होने या किसी आतंकवादी गिरोह या संगठन के सदस्य या आतंकवाद में प्रशिक्षण के बारे में कोई भी सामग्री पेश करने में असमर्थ रहा है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

‘पीने की लिमिट तय करें, लोगों को ड्राइव कर घर जाना होता है…’, पुणे कोर्ट का बार और पब मालिकों को निर्देश – Pune Car Crash Pune Decide a limit on serving liquor customers drive vehicles ntc


महाराष्ट्र के पुणे का पोर्श कार हादसा सुर्खियों में बना हुआ है. लग्जरी कार से दो इंजीनियर्स को रौंदने वाले नाबालिग लड़के की रिहाई चर्चा में है. इस मामले में पुणे की एक स्थानीय कोर्ट ने सुनवाई करते हुए बार और पब ऑपरेटर्स को निर्देश भी दिए हैं.

कोर्ट ने पब और बार ऑपरेटर्स से कहा है कि वे अपने ग्राहकों के लिए शराब परोसने की लिमिट तय करें क्योंकि लोगों को शराब पीने के बाद अपने वाहन चलाकर घर भी लौटना होता है. 

कोर्ट ने इस मामले में  तीन आरोपियों को 24 मई तक के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया है. इस मामले में आरोपी नाबालिग के पिता और अलग-अलग रेस्तरां के दो मैनेजर्स को रिमांड पर भेजा गया है. 

इससे पहले आरोपियों की पुलिस रिमांड की मांग करते हुए प्रॉसिक्यूटर्स ने कोर्ट से आरोपियों की सात दिनों की हिरासत मांगी थी. प्रॉसिक्यूटर्स ने कोर्ट को बताया कि बार के मालिकों या मैनेजर्स ने आरोपी नाबालिग और उसके दोस्तों की उम्र को दरकिनार कर उन्हें शराब परोसी. 

जज ने इस हादसे में दो युवाओं की मौत पर चिंता जताते हुए आरोपियों को सात दिन की रिमांड पर भेज दिया. इस मामले में प्रॉसिक्यूटर्स और बचाव पक्ष के तर्क सुनने के बाद एडिशनल सत्र न्यायालय के जज एसपी पोन्कशे ने कहा कि अगर किसी शख्स ने बहुत शराब पी रखी है और वो नशे में है तो पब या बार में ही उसके रुकने की व्यवस्था की जाए. ऐसे में सड़क पर चलने वाले लोगों को क्या करना चाहिए? जो लोग पब में आए हैं वे पैदल चलकर घर नहीं जाएंगे. वे अपने वाहनों से घर जाएंगे. कहीं न कहीं तो बदलाव करना होगा. 

जज ने बार और पब ऑपरेटर्स से लोगों को शराब परोसने की लिमिट तय करने को कहा. आपको तय करना होगा कि कितनी शराब परोसनी है?

क्या है मामला?

हिट एंड रन की ये घटना 19 मई की है. पुणे के कल्याणी नगर इलाके में रियल एस्टेट डेवलपर विशाल अग्रवाल के 17 साल के बेटे ने अपनी स्पोर्ट्स कार पोर्श से बाइक सवार दो इंजीनियरों को रौंद दिया था, जिससे दोनों की मौत हो गई. इस घटना के 14 घंटे बाद आरोपी नाबालिग को कोर्ट से कुछ शर्तों के साथ जमानत मिल गई थी.

कोर्ट ने उसे 15 दिनों तक ट्रैफिक पुलिस के साथ काम करने और सड़क दुर्घटनाओं के प्रभाव-समाधान पर 300 शब्दों का निबंध लिखने का निर्देश दिया था. हालांकि, पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी शराब के नशे में था और बेहद तेज गति से कार को चला रहा था.

नाबालिग पर वयस्क की तरह केस चलने की मांग

इस मामले में पुणे पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार ने कहा कि नाबालिग आरोपी पर एक वयस्क की तरह मुकदमा चलाया जाना चाहिए. इसके लिए पुलिस ने ऊपरी अदालत से अनुमति मांगी है. पुलिस कमिश्नर का यह बयान आरोपी नाबालिग को जमानत दिए जाने पर नाराजगी के बीच आया.

उन्होंने कहा कि आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 (गैर इरादतन हत्या), 304ए (लापरवाही से मौत) और मोटर वाहन अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. 

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और गृह मंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले में पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. इस मामले में पुलिस पर किसी दबाव के बारे में पूछे जाने पर पुणे पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार ने कहा कि पुलिस शुरू से ही कानून के मुताबिक काम कर रही है. पुलिस पर किसी का कोई दबाव नहीं है. 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

दिल्ली मेट्रो में केजरीवाल पर धमकी भरे मैसेज लिखने वाला युवक गिरफ्तार, नामी बैंक का है कर्मचारी – Delhi Police arrested the Man Who Scribbled Threat Messages Against CM Kejriwal Inside Delhi Metro ntc


दिल्ली मेट्रो के स्टेशनों और ट्रेन के अंदर अरविंद केजरीवाल को लेकर जान से मारने की धमकी वाले मैसेज लिखने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है. धमकी भरे मैसेज लिखते हुए आरोपी का सीसीटीवी फुटेज आजतक के पास मौजूद है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक आरोपी का नाम अंकित गोयल (32) है और बरेली का रहने वाला है. वह बरेली से ग्रेटर नोएडा मकान की रजिस्ट्री करवाने आया था.

अंकित यहां फाइव स्टार होटल में रुका था और दिल्ली मेट्रो में सफर के दौरान उसने केजरीवाल के नाम धमकी भेरे मैसेज लिखे थे. वह बेहद पढ़ा-लिखा है और एक नामी बैंक में काम करता है. वह किसी पॉलिटिकल पार्टी से नहीं जुड़ा है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक ऐसा लगता है कि आरोपी की मानसिक हालत ठीक नहीं है, हालांकि मेडिकल के बाद ही इस बात की पुष्टि हो सकती है. 

बता दें कि 19 मई को पटेल नगर और राजीव चौक मेट्रो स्टेशनों और एक ट्रेन कोच में केजरीवाल को लेकर अंग्रेजी में धमकी वाले संदेश लिखे गए थे. आम आदमी पार्टी ने इस मामले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके BJP और PMO पर केजरीवाल की हत्या कराने की साजिश रचने का आरोप लगाया था. दिल्ली पुलिस की मेट्रो यूनिट ने इस मामले में FIR दर्ज कर मामले की जांच कर रही थी. धमकी भरे संदेश लिखने वाले आरोपी की पहचान सीसीटीवी फुटेज के जरिए की गई.

पुलिस ने पटेल नगर, रमेश नगर और राजीव चौक मेट्रो स्टेशनों से सीसीटीवी फुटेज हासिल किए और जांच की तो शख्स की पहचान हुई. इसके अलावा मेट्रो ट्रेनों के अंदर और स्टेशनों पर केजरीवाल को निशाना बनाते हुए लिखे गए कई संदेशों की तस्वीरें इंस्टाग्राम हैंडल @ankit.goel_91 पर साझा की गई थीं. मेट्रो कोच के अंदर एक धमकी भरे संदेश में लिखा था, ‘केजरीवाल कृप्या दिल्ली छोड़ दीजिए वरना आपको वे तीन थप्पड़ याद आएंगे, जो आपने चुनाव से पहले खुद को मरवाए थे. अबकी बार वास्तविक थप्पड़ जल्द पड़ेगा. आज की बैठक झंडेवालान में.’
पुलिस को ऐसा संदेह है कि अंकित गोयल ने प्रसिद्धि पाने के लिए मेट्रो स्टेशनों और ट्रेन के अंदर अरविंद केजरीवाल के लिए धमकी भरे संदेश लिखे और उनकी तस्वीरें अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट कीं, लेकिन असली कारण आरोपी से पूछताछ के बाद ही पता चलेगा.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ईरान में 28 जून को होगा नए राष्ट्रपति का चुनाव, रईसी के हेलिकॉप्टर क्रैश मामले की जांच शुरू – Iran President Election Date Ebrahim Raisi Helicopter Crash Investigation NTC


राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत के बाद ईरान में नए राष्ट्रपति के चुनाव के लिए तारीख का ऐलान कर दिया गया है. नए राष्ट्रपति के चयन के लिए 28 जून को चुनाव का समय तय किया गया है और इसकी घोषणा की गई है. ईरानी शासन ने राष्ट्रपति के हेलिकॉप्टर क्रैश मामले की जांच के लिए भी हाई रैंकिंग अधिकारियों की टीम बनाई है.

राष्ट्रपति रईसी के हेलिकॉप्टर क्रैश की जांच सशस्त्र बलों के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल मोहम्मद बघेरी ने एक हाई रैंकिंग प्रतिनिधिमंडल को सौंपा है. ब्रिगेडियर अली अब्दुल्लाही के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल को घटना स्थल पर भेजा गया है और जांच शुरू हो चुकी है. ईरानी न्यूज एजेंसी के मुताबिक, मिशन पूरा होने पर जांच के नतीजे बाद में घोषित किए जाएंगे.

यह भी पढ़ें: बर्फीला तूफान, घने जंगल और ऊंची पहाड़ियां… इन हालात में क्रैश हुआ ईरानी राष्ट्रपति का हेलिकॉप्टर

ईरान में कब होगा राष्ट्रपति का चुनाव?

न्यूज एजेंसी आईआरएनए ने जानकारी दी है कि अब ईरान में नए राष्ट्रपति का चुनाव 28 जून को किया जाएगा. 30 मई से 3 जून तक उम्मीदवार अपना नामांकन दाखिल कर सकेंगे और 12-27 जून तक चुनाव के लिए प्रचार किया जा सकेगा. ईरान के संविधान के अनुच्छेद 131 के तहत नए राष्ट्रपति का चुनाव 50 दिनों के भीतर कराने का नियम है. इस बीच सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह खामेनेई ने उपराष्ट्रपति मोहम्मद मोखबर को कार्यकारी के प्रमुख के रूप में नियुक्त किया है.

ईरान के राष्ट्रपति की हेलिकॉप्टर क्रैश में मौत

राष्ट्रपति राईसी रविवार को अजरबैजान के साथ ईरान की सीमा पर एक बांध का उद्घाटन कर लौट रहे थे, जब उनका हेलिकॉप्टर उत्तर-पश्चिमी ईरान के वरजकान में दुर्घटनाग्रस्त हो गया. दुर्घटनाग्रस्त हेलिकॉप्टर में विदेश मंत्री होसैन अमीराब्दुल्लाहियन, पूर्वी अजरबैजान प्रांत के गवर्नर मालेक रहमती और राईसी की बॉडीगार्ड टीम के प्रमुख मेहदी मौसवी भी सवार थे. 

प्रांत में सर्वोच्च नेता के प्रतिनिधि मोहम्मद अली अल-ए-हाशेम भी उनके साथ हेलिकॉप्टर में थे. ईरानी की न्यूज एजेंसी आईआरएनए के मुताबिक, दुर्घटनास्थल पर मौजूद स्थानीय अधिकारियों ने राईसी और उनके साथ आई टीम के शहीद होने की पुष्टि की.

यह भी पढ़ें: कासिम सुलेमानी, मोहम्मद रजा ज़ाहेदी की टारगेट कीलिंग और अब राष्ट्रपति रईसी की मौत… ईरानी नेताओं की डेथ पर जब उठे सवाल!

रईसी के हेलिकॉप्टर क्रैश के कारण पर अमेरिका ने क्या कहा?

अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन ने सोमवार को कहा कि उन्हें हेलीकॉप्टर दुर्घटना के कारण के बारे में कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा कि उन्हें जरूरी नहीं कि क्षेत्रीय सुरक्षा पर कोई व्यापक प्रभाव दिखे. ऑस्टिन ने कहा कि वह दुर्घटना के कारण के बारे में अनुमान नहीं लगा सकते. अमेरिकी रक्षा सचिव ने कहा, “निश्चित रूप से, मैं जानता हूं कि ईरानी जांच कर रहे हैं या जांच करेंगे. हम देखेंगे कि उनकी जांच पूरी होने के बाद क्या नतीजा निकलता है.”



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loksabha Election Phase 5: ‘राजनीति का र भी नहीं जानता था तबसे…’, देखें क्या बोले चिराग पासवान


चिराग पासवान पहली बार अपने पिता की सीट से चुनावी मैदान में हैं. उन्होंने हाजीपुर से नामांकन का पर्चा भरा था जहां आज पांचवे चरण में मतदान हो रहे हैं. चिराग ने आजतक संवाददाता से बात की और हाजीपुर के लोगों से अप्पील की कि जितने भरोसा उन्होंने राम विलास पासवान पर दिखाया उतना ही उन पर भी दिखायें.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

दीपिका-आलिया नहीं ये एक्ट्रेस है संजय लीला भंसाली की फेवरेट, क्यों बोले- रिलेशन बनाने नहीं आए – Not deepika padukone alia bhatt priyanka chopra is sanjay leela bhansali favourite actress said its business tmova


संजय लीला भंसाली की हीरामंडी: द डायमंड बाजार ओटीटी पर सबसे ज्यादा बार देखे जानी वाली सीरीज में शामिल हो चुकी है. सोशल मीडिया पर वेब सीरीज के क्लिप्स जमकर वायरल हो रहे हैं. जितनी हीरामंडी के बारे में बात हो रही है उससे कहीं ज्यादा संजय लीला भंसाली को लेकर भी चर्चा हो रही है. एक्टर्स उनके साथ बार बार काम करने की इच्छा जाहिर करते हैं, लेकिन भंसाली ऐसा नहीं मानते. इसके पीछे की वजह आखिर है क्या? इसका उन्होंने खुद खुलासा किया.

भंसाली ने इन्हीं सभी चर्चाओं पर बात की है. उन्होंने बताया कि क्यों वो अपनी फिल्मों में ज्यादातर एक्टर्स रिपीट नहीं करते हैं. साथ ही अपने बारे में फैली अफवाह और अनुभवों के बारे में भी बात की. 

‘सब बिजनेस है’

संजय लीला भंसाली ने गलट्टा प्लस को दिए इंटरव्यू में कहा- मैंने बेहतरीन एक्टर्स के साथ काम किया है. रणबीर हो, रणवीर हो, दीपिका हो, माधुरी दीक्षित, अमित जी.. सभी बेहतर से बेहतरीन हैं. ऋतिक रोशन, प्रियंका चोपड़ा, नाना पाटेकर और सीमा बिस्वा – मेरे हमेशा से पसंदीदा एक्टर्स में से एक रहे हैं. और अब, इस फिल्म में, सोनाक्षी सिन्हा और ऋचा चड्ढा. मुझे लगता है कि मेरा उन सभी के साथ बहुत अच्छा इक्वेशन है. मुझे कभी-कभी लगता है कि जब मैं उन्हें दोबारा नहीं लेता, तो वे इससे परेशान हो जाते हैं. वो कहते हैं, ‘हमने इस फिल्म के लिए संजय को इतना कुछ दिया, इस फिल्म के लिए क्यों नहीं?’

”लेकिन मुझे लगता है कि कभी-कभी कास्टिंग बहुत ही ऑर्गेनिक होती है, इसे गहराई से आना होता है. हम यहां संबंध बनाने के लिए नहीं हैं. मैं आपका सम्मान करता हूं उसके लिए…आपने मेरे लिए जो कुछ बनाया, उसके लिए मैं आपसे प्यार करता हूं – आपने एक्ट किया, आपने अपना समय और अपनी मेहनत दी और आपने स्क्रीन पर जादू पैदा किया.”

भंसाली ने कहा- परफॉर्मेंस की बात करूं तो, मेरी फिल्म में काम किए 90 प्रतिशत एक्टर्स ने स्क्रीन पर जादू बिखेरा है. ये उनके प्यार और दिए इज्जत की बदौलत ही हो पाया है. वो अपना बेस्ट करते हैं. 

बता दें, आलिया भट्ट ने हाल ही में एक चैट शो के दौरान भंसाली के साथ बार बार काम करने की इच्छा जताई थी. आलिया ने कहा था उन्होंने दीपिका के साथ 3 फिल्में की हैं, मेरे साथ कम से कम चार तो करनी ही होगी. संजय आलिया के साथ गंगुबाई काठियावाड़ी में काम कर चुके हैं. वो जल्द ही आलिया, रणबीर और विक्की कौशल के साथ लव एंड वॉर करेंगे. संजय ने दीपिका पादुकोण के साथ गोलियों की रासलीला राम-लीला, बाजीराव मस्तानी और पद्मावत में काम किया है. 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

एक क्लिक में पढ़ें 19 मई, रविवार की अहम खबरें



देश, दुनिया, राज्य, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ-साथ खबरों का लाइव अपडेशन…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *